LIC जीवन लाभ

LIC जीवन लाभ एक पार्टिसिपेटिंग नॉन-लिंक्ड  लिमिटेड प्रीमियम पेइंग इंडीविजुअल सेविंग्स प्‍लान है, जो देता है सेविंग्स और प्रोटेक्शन का एक साथ बैनिफिट LIC जीवन लाभ कोई अनहोनी होने की सूरत में न केवल इंश्योर्ड के परिवार को फाइनैन्शल मदद उपलब्ध कराता है बल्कि इंश्योर्ड व्यक्ति के नहीं रहने पर भी भविष्य में परिवार की फाइनैन्शल जरूरतों का ध्यान रखता है

भारत में एक प्रमुख इंश्योरेंस प्रोवाइडर होने के नाते,जब इंश्योरेंस कवर खरीदने की बात आती है तो LIC पॉलिसी  ग्राहकों के लिए लोकप्रिय पसंद हैं  LIC द्वारा पेश पॉलिसियों की बहुत ही विस्तृत रेंज के साथ, LIC जीवन लाभ LIC आफ इंडिया द्वारा पेश एक सबसे अधिक बिकने वाला एन्डाउमेंट इंश्योरेंस प्लान है LIC जीवन लाभ इंश्योरेंस खरीदने वालों के लिए बहुत से बैनिफिट के साथ आता है जीवन लाभ पॉलिसी के बारे में विस्तार से जानने के लिए, आइए, इसके बारे में पढ़ते हैं

LIC जीवन लाभ प्लान- विशेषताएं

LIC जीवन लाभ प्लान की कुछ मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • यह प्लान लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट का विकल्प उपलब्ध कराता है
  • यह प्लान 16,21 और 25 साल के पॉलिसी टर्म पर उपलब्ध है जो इन्वेस्टर्स के लिए किसी खास लक्ष्य को सामने रखकर निवेश को आसान बनाता है
  • यह नॉन लिंक्ड, प्रौफिट प्लान मृत्यु और मैच्योरिटी बैनिफिट के रूप में इन्वेस्टसर्स को काम्प्रिहेन्सिव प्रोटेक्शन के साथ ही एश्योर्ड रिटर्न दोनों सुनिश्चित करता है
  • पॉलिसी होल्डर तीन साल के लिए रेग्यूलर प्रीमियम का भुगतान करने के बाद इस प्लान पर ऋण सुविधा प्राप्त कर सकता है
  • आय कर अधिनियम, 1961के नियम 80C और 10(10D) के तहत टैक्स बैनिफिट प्राप्त किया जा सकता है
  • यह प्लान डेथ बैनिफिट को किश्तों में प्राप्त करने का विकल्प देता है

LIC जीवन लाभ बैनिफिट

LIC जीवन लाभ प्लान द्वारा पेश बैनिफिट निम्न प्रकार से हैं 

डेथ बैनिफिट

यदि पॉलिसी अवधि के दौरान इंश्योर्ड व्यक्ति किसी अनहोनी का शिकार हो जाता है तो इंश्योरर पॉलिसी के लाभार्थी को डेथ बैनिफिट का भुगतान करता है पॉलिसी के लाभार्थी को वेस्‍टेड रिवर्सनरी बोनस और अंतिम अतिरिक्‍त बोनस (यदि कोई हो) के साथ सम एश्योर्ड की राशि के रूप में डेथ बेनेफिट का भुगतान किया जाता है।  डेथ पर सम एश्यार्ड को निम्न तरीके से परिभाषित किया गया है:

  • वार्षिक प्रीमियम से 7  गुना ज्यादा
  • बेसिक सम एश्‍योर्ड अमाउंट

पाॉलिसी के नामनी को दिया जाने वाला डेथ बेनिफिट भुगतान किए गए कुल प्रीमियम का 105% से कम नहीं होना चाहिए। 

मैच्योरिटी बेनिफिट

अगर इंश्योरेंस कराने वाला व्यक्ति पूरे पॉलिसी टर्म के बाद जीवित रहता है और उसने पॉलिसी के पूरे प्रीमियम का भुगतान किया है और पॉलिसी चालू है तो मैच्योरिटी बैनिफिट इंश्योर्ड व्यक्ति को वेस्टेड सिम्पल रिवर्सनरी बोनस और फाइनल एडिशनल बोनस, अगर कोई हो तो, के साथ मैच्योरिटी पर सम एश्योर्ड के रूप में प्रदान किया जाता है मैच्‍योरिटी पर देय सम एश्योर्ड, पॉलिसी की बेसिक सम एश्योर्ड राशि के बराबर होता है।

प्रौफिट में भागीदारी

पॉलिसी कॉर्पोरेशन के प्रौफिट में पार्टिसिपेट करती है और वह कापोर्रेशन के अनुभव के अनुसार सिम्पल रिवसर्सनरी बोनस पाने की हकदार है लेकिन इसके लिए पाॉलिसी का चालू रहना जरूरी है जिस साल में क्लेम किया जाता है, चाहे डेथ या मैच्योरिटी के रूप में, उस साल पॉलिसी के तहत फाइनल एडिशनल बोनस घोषित किया जाता है

टैक्स बेनिफिट

पॉलिसी होल्डर, पॉलिसी के तहत टैक्स बैनिफिट का लाभ ले सकता है । एक फाइनैन्शल ईयर में पॉलिसी के लिए प्रीमियम भुगतान की अधिकतम सीमा 1.5 लाख रू है और मैच्योरिटी से प्राप्त आय को इनकम टैक्स एक्ट सेक्शन  80C और 10(10D) के तहत टैक्स से छूट प्राप्त है 

LIC जीवन लाभ प्‍लान एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

आइए पॉलिसी के एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया पर एक नजर डालते हैं

क्राइटेरिया

न्यूनतम

अधिकतम

प्रवेश आयु

8 साल

PT16 के लिए 59 वर्ष

PT 21 के लिए 54 वर्ष

PT 25 के लिए 50 वर्ष 

सम अश्‍योर्ड

Rs.2,00,000

कोई अपर लिमिट नहीं

मैच्योरिटी आयु

N/A /लागू नहीं

75 वर्ष

पॉलिसी अवधि

16, 21 और 25 वर्ष

प्रीमियम के भुगतान की अवधि

10, 15 & 16 वर्ष

LIC जीवन लाभ राइडर्स

LIC जीवन लाभ पॉलिसी के तहत, पांच वैकल्पिक राइडर्स हैं जिन्हें पॉलिसी होल्डर एडिशनल प्रीमियम का भुगतान कर प्राप्त कर सकता है पॉलिसी के कवरेज को बढ़ाने के लिए राइडर्स बैनिफिट को बेस प्लान के साथ खरीदा जा सकता है। आइए, विस्तार से इन 5 वैकल्पिक राइडर बैनिफिट को देखते हैं

एक्सीडेंटल डेथ और डिसएबिलिटी बेनिफिट राइडर

पॉलिसी होल्‍डर बेस प्लान के प्रीमियम भुगतान की अवधि के दौरान कभी भी इस राइडर के विकल्प को चुन सकता है, बशर्ते कि बेस प्‍लान की आउटस्‍टैंडिंग PPT कम से कम 5 साल हो पॉलिसी के कवरेज को बढ़ाने के लिए बेस प्‍लान के साथ अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करके इस राइडर बेनिफिट को खरीदा जा सकता है। इस राइडर विकल्प में, बेस प्लान के तहत उपलब्ध डेथ बैनिफिट के साथ प्लान के नामिनी को एक्सीडेंटल डेथ बैनिफिट सम एश्योर्ड अमाउंट का भुगतान किया जाता है इतना ही नहीं, यह राइडर विकल्प किसी दुर्घटना में विकलांग होने की स्थिति में भी इंश्योर्ड को कवरेज उपलब्ध कराता है एक्सीडेंटल डिसएबिलिटी सम एश्योर्ड अमाउंट 10 साल की अवधि के लिए समान मासिक किस्तों में इंश्योर्ड व्यक्ति को प्रदान किया जाता है पॉलिसी का भविष्य में जमा किया जाने वाला प्रीमियम भी माफ 

LIC एक्सीडेंट बेनिफिट राइडर

पॉलिसी होल्‍डर बेस प्लान के प्रीमियम भुगतान की अवधि के दौरान कभी भी इस राइडर के विकल्प को चुन सकता है, बशर्ते कि बेस प्‍लान की आउटस्‍टैंडिंग PPT कम से कम 5 साल हो इस राइडर विकल्प में, दुर्घटना से 180 दिन के भीतर इंश्योर्ड व्यक्ति की मृत्यु होने की स्थिति में पॉलिसी के नामिनी को एक्सीडेंटल डेथ बैनिफिट सम एश्योर्ड का भुगतान किया जाता है 

टर्म एश्योरेंस राइडर

इस राइडर विकल्प को पॉलिसी की शुरूआत के समय लिया जा सकता है यह राइडर पॉलिसी की अवधि के दौरान इंश्योर्ड व्यक्ति की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में पॉलिसी के लाभार्थी को एडिशनल टर्म एश्योरेंस के रूप में अतिरिक्त सम एश्योर्ड का बैनिफिट देता है । टर्म एश्योरेंस राइडर बैनिफिट, पॉलिसी द्वारा पेश बेसिक डेथ बैनिफिट के साथ मिलता है

 क्रिटिकल इलनेस राइडर

क्रिटिकल इलनेस राइडर बैनिफिट को पॉलिसी शुरू करने के समय खरीदा जा सकता है यदि इंश्योर्ड व्यक्ति इस राइडर के तहत लिखित 15 क्रिटिकल बीमारियों में से किसी एक से पीड़ित पाया जाता है तो वह पॉलिसी अवधि के दौरान इस राइडर विकल्प के तहत पेश बैनिफिट को प्राप्त कर सकता है

प्रीमियम वेवर बेनिफिट

इस राइडर विकल्प के तहत, इंश्योर्ड व्यक्ति की  दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाने पर प्लान के भविष्य में अदा किए जाने वाले सभी प्रीमियम को माफ कर दिया जाता है हालाँकि, यदि बेस प्‍लान की प्रीमियम भुगतान की अवधि राइडर की अवधि से अधिक होती है, तो राइडर की समाप्ति की तारीख से बेस पॉलिसी के तहत आगे के बकाया सभी प्रीमियमलाइफ एश्‍योर्ड के लिए देय होंगे यदि पॉलिसी होल्डर पॉलिसी प्रीमियम का भुगतान करने में विफल रहता है तो यह पेड अप पॉलिसी बन जाएगी 

LIC जीवन लाभ कैसे काम करता है

LIC जीवन लाभ को 8 से 58 साल आयु वर्ग के बीच के लोग प्राप्त कर सकते हैं । यह लिमिटेड प्रीमियम पेइंग एन्डाउमेंट प्लान, किसी इमरजेंसी की स्थिति में नामिनी को डेथ बैनिफिट सुनिश्चित करता है और यदि इंश्योर्ड व्यक्ति पॉलिसी की पूरी अवधि के बाद जीवित रहता है तो उसे मैच्योरिटी बैनिफिट भी प्रदान करता है पॉलिसी ऋण सुविधा के माध्यम से परिवार की  धन की जरूरतों का भी ध्यान रखती है 

प्रीमियम का सिंपल इलस्ट्रेशन

हमने यहां स्टैंडर्ड लाइव्स के लिए 2 लाख रू के बेसिक सम एश्योर्ड अमाउंट के लिए वार्षिक प्रीमियम का नमूना इलस्ट्रेशन दर्शाया है।

आयु

पॉलिसी अवधि / प्रीमियम भुगतान अवधि (वर्षो में )

 

16(10)

21(15)

25(16)

20

16,699 /-

10, 682/-

9,006/-

30

16,758/-

10,770/-

9,134/-

40

17,013/-

11,133/-

9,584/-

50

17,826/-

12,123

10,741/-

रिबेट्स

वार्षिक मोड- टैब्‍यूलर प्री‍मियम का 2%

छमाही मोड- टैब्‍यूलर प्री‍मियम का 1%

तिमाही, मासिक मोड- NIL

बेसिक सम एश्‍योर्ड (B.S.A)

रू 2,00,000- रू 4,90,000- Nil

रू.5,00,000- रू.9,90,000- BSA का 1.25%

रू.10,00,000- रू.14,90,000- BSA का 1.50%

रू 15,00,000 और उससे अधिक - BSA का 1.75% 

LIC जीवन लाभ प्लान के अन्य विवरण

ग्रेस पीरियड

यदि इंश्‍योरेंस होल्‍डर प्रीमियम भुगतान अवधि में प्रीमियम का भुगतान करने में विफल रहता है, तो इंशयोरर द्वारा इंश्योर्ड को 30 दिनों का ग्रेस पीरियड दिया जाता है, जिसके तहत वह देय प्रीमियम का भुगतान कर सकता है। पॉलिसी होल्डर, जिन्होंने प्रीमियम के भुगतान के लिए ईयर्ली, हाफ इयर्ली, और क्वार्टरली भुगतान मोड को चुना है, उन्हें बकाया प्रीमियम के भुगतान के लिए 30 दिन का ग्रेस पीरियड दिया जाता है  हालांकि, पॉलिसी होल्डर ने यदि प्रीमियम के भुगतान के लिए मंथली मोड को चुना है तो ग्रेस पीरियड की अवधि कम होकर 15 दिन हो जाती है

फ्री लुक पीरियड‍:

यदि पॉलिसी होल्‍डर पॉलिसी के नियमों और शर्तों से संतुष्ट नहीं है, तो वह इंश्योरर द्वारा पॉलिसी शुरू होने की तारीख से पेश 15 दिनों की फ्री-लुक अवधि के भीतर पॉलिसी को रद्द कर सकता है। 

पॉलिसी सरेंडर

यदि पूरे तीन साल तक प्रीमियम का भुगतान किया गया है और इन 3 सालों में पॉलिसी चालू रही है तो LIC जीवन लाभ प्लान सरेंडर वैल्यू प्राप्त कर लेता है सरेंडर वैल्यू के तहत क्या भुगतान किया जाता है, ये यहां बताया गया है: 

  • गारंटीड सरेंडर वैल्‍यू: गारंटीड सरेंडर वैल्‍यू कुल प्रीमियम भुगतान के प्रतिशत के समान है कुल प्रीमियम के प्रतिशत को टैक्स, प्रीमियम के एक्स्ट्रा भुगतान और अगर किसी एक्स्ट्रा राइडर प्रीमियम का भुगतान किया गया है तो उन्हें निकाल कर कैल्क्यूलेट किया जाता है यह प्रतिशत पॉलिसी होल्डर द्वारा चुने गए पॉलिसी टर्म और पॉलिसी ईयर, जब प्लान को सरेंडर किया जा रहा है, पर निर्भर करता है

गारंटीड सरेंडर वैल्यू में सिम्पल रिवर्सनरी बोनस, यदि कोई हो, भी शामिल है यहां सरेंडर वैल्यू, वेस्टेड बोनस के समान है जिसे संबंधित सरेंडर वैल्यू फैक्टर्स से गुना किया गया है  

  • स्पेशल सरेंडर वैल्यू : यदि स्पेशल सरेंडर वैल्यू गारंटीड सरेंडर वैल्यू से अधिक है तो पॉलिसी को सरेंडर करने पर इंश्योर्ड व्यक्ति को स्पेशल सरेंडर वैल्यू का भुगतान किया जाता है इसे वेस्टेड बोनस राशि की डिस्काउंटिड वैल्यू और मैच्योरिटी पेड -अप एश्योर्ड के रूप में कैल्क्यूलेट किया जाता है

पेड अप वैल्यू

यदि लाइफ एश्‍योर्ड पॉलिसी के कम से कम 2 वर्षों के लिए प्रीमियम का भुगतान करने में असफल रहता है और प्‍लान को रिवाइव नहीं किया जाता है, तो पॉलिसी द्वारा दिए गए सभी बेनिफिट्स ग्रेस पीरियड के पूरा होने के बाद समाप्त हो जाते हैं और पॉलिसी होल्‍डर को कोई बेनिफिट्स नहीं दिया जाएगा ।

यदि, पॉलिसी के प्रीमियम का दो साल तक पूरा भुगतान किया गया है और उसके बाद प्रीमियम भुगतान नहीं किया गया है तो पॉलिसी पेड -अप पॉलिसी के रूप में चालू रहेगी पेड-अप पॉलिसी के तहत डेथ बैनिफिट के रूप में दिए जाने वाले सम एश्योर्ड को डेथ पेड-अप सम एश्योर्ड के रूप में जाना जाता है।  पेड-अप सम एश्‍योर्ड बराबर है:

भुगतान किए गये प्रीमियम की संख्या / भुगतान किए जाने वाले कुल प्रीमियम की संख्या X डेथ पर सम एश्‍योर्ड

इसी तरह, दिया जाने वाला मेच्‍योरिटी बेनिफिट बराबर है

भुगतान किए गये प्रीमियम की संख्या / भुगतान किए जाने वाले कुल प्रीमियम की संख्या X मेच्‍योरिटी पर सम एश्‍योर्ड 

LIC जीवन लाभ के लिए जरूरी दस्तावेज

LIC जीवन लाभ प्लान द्वारा पेश बैनिफिट प्राप्त करने के लिए कुछ दस्तावेज हैं जिन्हें तैयार रखना चाहिए आइए, एक नजर इसे देखते हैं

  • अड्रेस प्रूफ
  • अन्‍य KYC डॉक्‍यूमेंट्स: आधार कार्ड, पैन कार्ड, टैक्‍स विवरण आदि
  • ऐज प्रूफ
  • ठीक से भरा हुआ प्रपोजल फॉर्म/एप्लीकेशन फॉर्म
  • आवश्‍यकता के अनुसार मेडिकल डायग्‍नोसिस रिपोर्ट्स
  • मेडिकल हिस्‍ट्री

LIC जीवन लाभ पॉलिसी में शामिल नहीं हैं

लाइफ एश्योर्ड की आत्महत्या के मामले में LIC जीवन लाभ पॉलिसी क्लेम को रिजेक्ट करती है

  • यदि लाइफ एश्योर्ड पॉलिसी शुरू होने के 1 साल के भीतर आत्महत्या कर लेता है तो उस तारीख तक किए गए प्रीमियम भुगतान का 80% पॉलिसी के लाभार्थी को लाौटा दिया जाता है, बशर्ते पॉलिसी चालू हो

यदि पॉलिसी को फिर से चालू किए जाने की तारीख से 1साल के भीतर इंश्योर्ड व्यक्ति आत्महत्या कर लेता है तो प्राप्त उच्च सरेंडर वैल्यू या उस तारीख तक भुगतान किए गए 80 फीसदी प्रीमियम का भुगतान किया जाएगा 

Written By: PolicyBazaar - Updated: 16 September 2021
Disclaimer: Policybazaar does not endorse, rate or recommend any particular insurer or insurance product offered by an insurer.
Newsletter
Sign up for newsletter
Sign up our newsletter and get email about LIC Jeevan Labh Plan.
Close
Download the Policybazaar app
to manage all your insurance needs.
INSTALL